ब्रेकिंग न्यूज़

इमाम हुसैन का चेहलुम हमें क्या सिखाता है?

कर्बला के मैदान में इमाम हुसैन की शहादत के बाद उनकी बहन ज़ैनब और दूसरे साथी जब पहली बार उनका चेहलुम मनाने कर्बला पहुँचे तो उनका सबसे बड़ा मकसद यह था कि दुनिया को बता सकें कि पैगम्बर के नवासे हुसैन ने इतना बड़ा बलिदान क्यों दिया।

0
Add comment

टिप्पणी जोड़ें